What gst in hindi

What is GST | जीएसटी क्या है? आसान भाषा में समझें

Sharing is caring!

गुड्स एंड सर्विस टैक्‍स ( GST ) को भारत का सबसे अधिक बहुप्रतीक्षित कर सुधार माना जाता है। यह एक अप्रत्‍यक्ष कर सुधार है जो राज्‍यों के बीच से करों ( TAX ) की सीमा को दूर करता है और एक एकल बाजार का निर्माण करता है। जीएसटी के तहत केवल मूल्‍य संवर्धन पर कर लगेगा और कर का बोझ अंतिम उपभोक्‍ता द्वारा वहन किया जाएगा।

What GST in hindi

gst in hindi
GST in hindi

यहां पर आपको जीएसटी से जुड़ी कई बातों के बारे में जानकारी दी जा रही है-

अन्य कोई कर (TAX) नहीं

What is GST | जीएसटी क्या है? आसान भाषा में समझें
GST no Extra tax

जीएसटी का एक मुख्य फायदा यह है कि इससे अन्य कई अप्रत्यक्ष कर दूर हो जाते हैं। जीएसटी लागू होने के बाद वर्तमान में लगने वाले सभी कर हटा लिए जायेंगे। यदि जीएसटी प्रभाव में आता है तो उत्पाद कर, चुंगी कर, बिक्री कर सीईएन वैट, सेवा कर, कुल बिक्री कर आदि नहीं लगेंगे। ये सभी कर जीएसटी के तहत आते हैं। ( What GST In Hindi )

Read more :-

क्या है उद्देश्य

आसान व्यापार जीएसटी का उद्देश्य एक देश, एक कर है। इस प्रकार सभी राज्यों में एक समान कर लगेगा। इससे राज्यों के बीच होने वाली अस्वस्थ प्रतियोगिता को रोका जा सकेगा। वे लोग जो राज्यों के बीच व्यापार करते हैं उनके लिए यह एक अच्छी बात है। जीएसटी उन लोगों को सहायता प्रदान करता है जो अन्य राज्यों में अपनी शाखाएं खोलना चाहते हैं।

टैक्स देने में होगी आसानी

simple income tax return
simple income tax return

कई उद्यमियों और छोटे पैमाने पर व्यापार करने वाले लोगों के लिए जीएसटी एक वरदान होगा। जीएसटी लागू होने के बाद टैक्सिंग और डाक्युमेंनटेशन बहुत आसान हो जाएगा। रिटर्न भरना, कर अदायगी और रिफंड की प्रक्रिया भी झंझट मुक्त हो जायेगी। क्योंकि जीएसटी एक एकल कर है अत: इससे कर चोरी और भ्रष्टाचार को कम करने में सहायता मिलेगी। इससे सिस्टम और अधिक प्रभावकारी हो जाएगा। ( What GST In Hindi )

कीमतों में आ सकती है कमी

जीएसटी से दोगुने शुल्क हट जायेंगे। वर्तमान में उत्पादित एफएमसीजी उत्पादों जैसे साबुन, डिटर्जेंट, कॉस्मेटिक्स आदि पर आबकारी कर के अलावा वैट (वेल्यु एडेड टैक्स) भी लगता है। जीएसटी लगने के बाद यह हटा दिया जाएगा। इससे वस्तुओं और सेवाओं की कीमतों में कमी आएगी जिससे आम आदमी अधिक पैसा बचा पायेगा। ऐसी आशा की जा रही है कि जीएसटी लागू होने के बाद एफएमसीजी उत्पादों की कीमतें जैसे छोटी कार, सिनेमा टिकिट, इलेक्ट्रिकल वायर, पैंट उत्पाद आदि कम हो जायेंगी। इसके अलावा जीएसटी से व्यापारियों और उपभोक्ता दोनों को फायदा होगा।

अधिक रोज़गार ( Employment )

क्योंकि जीएसटी से उत्पाद ( Product )की कीमत में कमी होगी अत: ऐसी आशा की जा रही है उत्पाद की मांग बढे़गी और इस मांग ( DEMAND ) को पूरा करने के लिए पूर्ति होना भी आवश्यक है। अधिक पूर्ति तभी होगी जब रोजगार बढ़ाए जायेंगे। जीएसटी ( GST )से जीडीपी ( GDP ) कम से कम 2 प्रतिशत बढ़ेगी जिसके कारण रोजगार के अवसर उत्पन्न होंगे।

इनपुट से आउटपुट की ओर ( Input – Output )

जीएसटी ( GST ) सभी चरणों में लागू होगा अर्थात निर्माण से उपयोग तक। इससे श्रृंखला के प्रत्येक चरण पर क्रेडिट ( Credit ) लाभ मिलेगा। अब निर्माण से लेकर उपयोग चरण तक टैक्स ( Tax ) का मार्जिन जोड़ा जाएगा और पूरी राशि के टैक्स का भुगतान करना होगा। जीएसटी ( GST ) लागू होने के बाद लोगों को टैक्स क्रेडिट ( TAX CREDIT ) लाभ मिलेगा। टैक्स केवल मार्जिन अमाउंट (सीमान्त राशि) पर ही लगाया जाएगा। इससे टैक्स का व्यापक प्रभाव कम हो जाएगा।

जीडीपी ( GDP ) में वृद्धि

GDP In hindi
GDP In hindi

जैसे जैसे मांग ( DEMAND ) बढ़ेगी वैसे वैसे स्वाभाविक है कि उत्पादन भी बढ़ेगा। इससे सकल घरेलू उत्पाद में वृद्धि होगी। ऐसा अंदाजा है कि जीएसटी लागू होने के बाद जीडीपी 1-2% तक बढ़ जाएगी।

Growth | राजस्व में वृद्धि

जीएसटी ( GST ) एक देश, एक कर नियम के अंतर्गत आता है। इसमें सभी 17 करो ( TAX ) को एक कर से विस्थापित कर दिया जाएगा। उतपाद की मांग में वृद्धि ( GROWTH ) होने पर राज्य ( STATE ) और केंद्रीय सरकार ( CENTRAL GOVERNMENT ) का कर राजस्व अपने आप ही बढ़ेगा।

-: What GST In Hindi

What GST In Hindi

What gst in hindi

गुड्स एंड सर्विस टैक्‍स ( GST ) को भारत का सबसे अधिक बहुप्रतीक्षित कर सुधार माना जाता है। यह एक अप्रत्‍यक्ष कर सुधार है जो राज्‍यों के बीच से करों ( TAX ) की सीमा को दूर करता है और एक एकल बाजार का निर्माण करता है। जीएसटी के तहत केवल मूल्‍य संवर्धन पर कर लगेगा और कर का बोझ अंतिम उपभोक्‍ता द्वारा वहन किया जाएगा।

What is GDP in hindi

GDP In hindi

जैसे जैसे मांग ( DEMAND ) बढ़ेगी वैसे वैसे स्वाभाविक है कि उत्पादन भी बढ़ेगा। इससे सकल घरेलू उत्पाद में वृद्धि होगी। ऐसा अंदाजा है कि जीएसटी लागू होने के बाद जीडीपी 1-2% तक बढ़ जाएगी।

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of
shares