Sania Mirza Biography In Hindi

sports

Sania Mirza Biography In Hindi:-

पूरा नाम   – सानिया मिर्ज़ा
जन्म        – 15 नवम्बर 1986
जन्मस्थान – मुंबई
माता   –  नसीमा मिर्ज़ा
पिता    –  इमरान मिर्ज़ा
विवाह    –  शोएब मलिक के साथ.

Sania Mirza Biography In Hindi:-

सानिया मिर्ज़ा भारत की एक टेनिस खिलाडी है, जिसने भारतीय टेनिस खिलाडी के रूप में अपना स्थान बनाये रखा है. अपने एक दशक से भी लम्बे करियर में सानिया ने खुद को हर मोड़ पर सफल साबित किया और देश की सबसे सफल महिला टेनिस खिलाडी बनी.

अपने एकल करियर में, मिर्ज़ा ने शातिर रूप से Svetlana Kunznetsova, Vera Zvonareva और Marion Bartoli और पूर्व नंबर एक खिलाडी Martina Hingis, Dinara Safina और Victoria Azarenka को खेल में धुल चटाई थी. वह अब तक की भारत की सबसे सफल और शीर्ष पर कायम पहली महिला टेनिस खिलाडी है, सानिया अंतरराष्ट्रिय रैंकिंग में 2007 के मध्य में 27 वे स्थान पर काबिज़ थी. लेकिन बाद में कुछ समय बाद कलाई में लगी चोट के करण सानिया को अपना एकल करियर समाप्त करना पड़ा और तभी से वह डबल प्लेयर पर ज्यादा ध्यान देने लगी. जहा फिलहाल वह नम्बर एक स्थान पर काबिज है. सानिया ने US 1 मिलियन डॉलर से भी ज्यादा की कमाई अपने खेल में की है. और अपने स्थानिक देश भारत की वह नंबर एक टेनिस खिलाडी है. सानिया ने अपने करियर में कई पुरस्कार और अवार्ड्स भी हासिल किये है.

इसी के साथ वह तीसरी भारतीय महिला है जिसने ग्रैंड स्लैम प्रतियोगिता के एक राउंड में जीत हासिल की है. अपने करियर में सानिया ने 14 मेडल्स भी जीते है जिनमे 6 गोल्ड मेडल भी शामिल है. ये मेडल्स सानिया ने एशियाई गेम्स, कामनवेल्थ गेम्स और एफ्रो-एशियाई गेम्स में जीते है.
टाइम्स पत्रिका ने सानिया को अक्टूबर 2005 में “एशिया के 50 हीरो” की सूचि में शामिल किया था. मार्च 2010 को, दी इकोनॉमिक्स टाइम्स ने सानिया को “33 महिला जिनका भारत को गर्व है” की सूचि में भी शामिल किया था. 25 नवम्बर 2013 को UN Women Goodwill Ambassador, दक्षिण एशिया के लिए भी उनकी नियुक्ति की गयी थी.

सानिया मिर्ज़ा का प्रारंभिक जीवन:-

सानिया मिर्ज़ा का जन्म 15 नवम्बर 1986 को भारत में महाराष्ट्र राज्य के मुंबई शहर में हुआ. उनके पिता इमरान मिर्ज़ा एक बिल्डर थे तथा उनकी माता नसीमा प्रिंटिंग के व्यवसाय में काम करती थी. सानिया के जन्म के कुछ समय बाद ही उनका परिवार हैदराबाद चला गया था, जहा धार्मिक परिवार में सानिया और उनकी छोटी बहन अनाम का पालन-पोषण किया गया था. वह भारत के पूर्व क्रिकेट कप्तान घुलाम अहमद और पाकिस्तान आसिफ इकबाल की दूर की रिश्तेदार थी. 6 साल की आयु से ही सानिया ने टेनिस खेलना शुरू किया था. टेनिस का प्रशिक्षण सानिया को अपने पिता से ही मिला था और बाद में सानिया को रॉजर एंडरसन ने प्रशिक्षित किया था.

सानिया ने हैदराबाद की नसर स्कूल में जाना शुरू किया और बाद में वह सेंट मैरी कॉलेज से ग्रेजुएट हुई. 11 दिसम्बर 2008 को सानिया ने MGR एजुकेशनल एंड रिसर्च इंस्टिट्यूट यूनिवर्सिटी, चेन्नई से अपनी डॉक्टरी की उपाधि प्राप्त की. सानिया एक बेहतर टेनिस खिलाडी होने के साथ-साथ एक कुशल स्विमर (तैराक) भी थी.

Sania Mirza playing Style:-

सानिया मिर्ज़ा एक आक्रमक ग्राउंडस्ट्रोक खिलाडी है जो अपने आक्रमण अंदाज़ के लिये जानी जाती है. सानिया की सबसे बड़ी ताकत उसका मस्तिष्क और साथ ही टप्पा पड़ते ही प्रहार करने की योग्यता है. सानिया के खेल शैली की तुलना महान रोमानियाई Llie Nastase से की जाती है. वह खेल में वापसी करने वाली कुशल खिलाडी है, अपने बहोत से मैच सानिया ने खेल में दोबारा वापसी करते हुए जीते है. उसने जब इस बारे में पूछा गया था तब मिर्ज़ा ने कहा था की, “मेरे मस्तिष्क और उलटे हात के प्रहार को कोई नही रोक सकता, और यही एक जगह है जहा से मै आसानी से जीत सकती हु. मुझे बस आक्रमकता से प्रहार करने की जरुरत है.” “मुझे अपने पैरो से नही बल्कि अपने हातो से तेज़ होने की जरुरत है.” अपनी कमजोरियों के बारे में बताते हुए सानिया ने कहा था की कोर्ट के पास वाली जगह ही उनकी सबसे बड़ी कमजोरी है, उस जगह पर सानिया बहोत बार संघर्ष करते हुए नज़र आई है. सानिया ने अपनी दूसरी कमजोरी को बताते हुए कहा था की, वह आसानी से तेज़ी से एक जगह से दुसरे जगह नही जा सकती. और इसी वजह से 2012 में कलाई में चोट लगने की वजह से उनका एकल करियर समाप्त हो गया था.

सानिया मिर्ज़ा का व्यक्तिगत जीवन:-

12 अप्रैल 2010 को सानिया ने पारंपरिक मुस्लिम रीती-रिवाजो से हैदराबाद के ताज कृष्णा होटल में पाकिस्तानी क्रिकेटर शोएब मलिक से विवाह कर लिया. जिसमे उन्हें पाकिस्तानी वैवाहिक रिवाजो के अनुसार शोएब के परिवार को 6.1 मिलियन रुपये देने पड़े. बाद में उनकी वलीमा सेरेमनी पाकिस्तान के लाहौर में हुई थी.

गूगल के अनुसार, जिस समय उनका विवाह हुआ था उस समय सानिया सबसे ज्यादा सर्च की जाने वाली महिला टेनिस खिलाडी बनी थी और साथ ही 2010 को बेस्ट भारतीय महिला खिलाडी भी .

सानिया मिर्ज़ा के पुरस्कार:-

2004 में भारत सरकार द्वारा सानिया को अर्जुन पुरस्कार दिया गया. 2006 में, मिर्ज़ा को पद्म भुषण से सम्मानित किया गया, जो एक टेनिस खिलाडी के रूप में उनका चौथा सर्वोच्च पुरस्कार है.

  • अर्जुन पुरस्कार (2004)
  • WTA New Comer Of The Year (2005)
  •  पद्म श्री (2006)
  • राजीव गाँधी खेल रत्न (2015)

2014 में, तेलंगाना सरकार ने सानिया मिर्ज़ा को अपने राज्य के ब्रांड एम्बेसडर के रूप में नियुक्त किया था.

निश्चित ही आज सानिया मिर्ज़ा दूसरी लडकियों के लिये प्रेरणा का विषय बनी हुई है.देश को उनकी सफलता पर हमेशा गर्व होगा.

Follow Us
Please follow and like us:
error20

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *