sam walton biography in hindi

Sam walton Biography in hindi – सैम वॉल्टन- Walmart Story

Sharing is caring!

Sam walton Biography in hindi – सैम वॉल्टन- Walmart Story

हर कामयाबी के लिए कुछ अलग ‘काम’ करने की जरूरत नहीं होती, किसी काम को अलग तरीके से करने का तरीका का होता है.ये बात कही है

वालमार्ट के फाउंडर  सैम वॉल्टन ने

Sam walton boigraphy in hindi

साल 1918 में अमेरिका के ओक्लाहामा में पैदा हुए सैम वॉल्टन मध्यमवर्गीय परिवार से आते थे. कॉलेज के दिनों में ही उनका वास्ता रिटेल सेक्टर से हो गया.जे सी पेन्नी नाम की कंपनी से उन्होंने अपना करियर बतौर सेल्स ट्रेनी शुरू किया. इस दौरान भी वॉल्टन ने सबसे ज्यादा ध्यान कस्टमर सर्विस पर दिया. और यही सीख बाद में ‘वॉलमार्ट’ पर लागू किया. जहां मूलमंत्र था, कस्टमर सर्विस और कम मुनाफे के साथ बिक्री. सेल्स ट्रेनी की नौकरी छोड़कर वो साल 1942 में तीन सालों के लिए सेना में भी शामिल हुए.बेन फ्रेंकलिन स्टोर को बेहद मशहूर बना दिया

सेना की नौकरी से कमाए गए 5 हजार डॉलर और रिश्तेदारों की मदद से वॉल्टन ने न्यूपोर्ट, अर्कांसेस में ‘बेन फ्रेंकलिन स्टोर’ की फ्रेंचाइजी ली. यहां भी उनका मूलमंत्र था कि बाकी स्टोर के मुकाबले कम दाम में ज्यादा सर्विस के साथ स्टोर चलाओ. दूसरों को वॉल्टन का ये कॉन्सेप्ट कुछ खास फायदे का सौदा नहीं दिखता था. धीरे-धीरे वॉल्टन की कमाई कई गुना बढ़ती गई और आसपास के कई स्टेट में उन्होंने बेन फ्रेंकलिन की फ्रेंचाइजी खरीद ली. लेकिन बाद में सैम वॉल्टन ने खुद का स्टोर खोलने का फैसला लिया. ( Sam walton Biography )

न्यूपोर्ट से बेंटोनविल पहुंचें सैम

साल 1950 में एक अलग और शांत जगह की तलाश में वॉल्टन न्यूपोर्ट से बेंटोनविल पहुंचे. यहां 99 साल की लीज पर जमीन ली और सैम 5 एंड सैम 10 नाम से स्टोर खोला. साल 1960 तक उन्होंने एक के बाद एक 15 दुकानें खोल डालीं. हालात ये हो गए कि कभी शांत जगह माने जाने वाले बेंटोनविल में एक साथ कई कंपनियां अपने स्टोर खोलने लगी.

1962 में खुला पहला ‘वॉलमार्ट’

साल 1962 में रोजर्स, अर्कांसेस में पहला वॉलमार्ट वॉल्टन ने खरीदा. उस वक्त सैम वॉल्टन की उम्र 44 साल थी.

  • साल 1967 तक वॉल्टन ने 24 स्टोर खोल लिए थे. लेकिन अब दुनिया के रिटेल सेक्टर पर राज करने के लिए वॉल्टन को कुछ नए कदम की जरूरत थी
  • साल 1970 में कंपनी पब्लिक लिमिटेड कंपनी बन गई और 1972 में न्यूयॉर्क स्टॉक एक्सचेंज कंपनी लिस्ट हो गई. ( Sam walton )

कंपनी ने अपने पुराने कॉन्सेप्ट को बनाए रखा- कम कीमतों में सप्लायर्स से ज्यादा माल खरीदना और उसे कम मुनाफे पर बेच देना. साथ ही साल दर साल नए स्टोर खोलना. कंपनी के इस कॉन्सेप्ट के सामने दूसरी सारी रिटेल कंपनियां छोटी दिखने लगी. नतीजा सबके सामने है.

90 के दशक में वॉलमार्ट ने अपने पैर दूसरे देशों में भी पसारने शुरू कर दिए. साल 1991 में कंपनी ने एक मैक्सिकन रिटेल कंपनी की मदद से अमेरिका से बाहर कदम रखा. फिलहाल, 28 देशों में कंपनी के स्टोर हैं. उनके योगदान को देखते हुए साल 1992 में अमेरिकी राष्ट्रपति बुश ने उन्हें मेडल ऑफ फ्रीडम से सम्मानित किया. इसके 6 महीने बाद ही 74 साल की उम्र में सैम वॉल्टन का निधन हो गया.

सीखने वाली बात…

सैम वॉल्टन ने रिटेल सेक्टर की शुरुआत नहीं की थी. लेकिन उसके तरीके को बदला और फायदेमंद बनाया. ऐसे कई उदाहरण और हैं जैसे हेनरी फोर्ड ने ऑटोमोबाइल की शुरुआत नहीं की थी. लेकिन इस सेक्टर में नया बूम लेकर आए थे. मतलब ये है कि आप अपने नए आइडिया और काम करने की तरीके के बदौलत कामयाबी हासिल कर सकते हैं.

-: Sam walton Biography in hindi

Sam walton Biography in hindi

साल 1918 में अमेरिका के ओक्लाहामा में पैदा हुए सैम वॉल्टन मध्यमवर्गीय परिवार से आते थे. कॉलेज के दिनों में ही उनका वास्ता रिटेल सेक्टर से हो गया.जे सी पेन्नी नाम की कंपनी से उन्होंने अपना करियर बतौर सेल्स ट्रेनी शुरू किया. इस दौरान भी वॉल्टन ने सबसे ज्यादा ध्यान कस्टमर सर्विस पर दिया.

Subscribe
Notify of
guest
2 Comments
Most Voted
Newest Oldest
Inline Feedbacks
View all comments
aarti
aarti
1 year ago

bahut hi accha article tha
sam walton ke baare me
very good history

shares