saif ali khan biography in hindi

saif ali khan biography in hindi

Sharing is caring!

saif ali khan biography in hindi :-

Saif ali khan का जन्म साजिद अली खान के नाम से 16 अगस्त 1970 को भारत के नयी दिल्ली में मंसूर अली खान पटौदी के घर हुआ। जो भारतीय राष्ट्रिय क्रिकेट टीम के भूतपूर्व कप्तान थे और उनकी माँ का नाम शर्मीला टैगोर है, जो एक फिल्म अभिनेत्री है।

1952 से 71 तक पटौदी को पटौदी के नवाब का शीर्षक दिया गया था, लेकिन उनकी मृत्यु के बाद हरियाणा के पटौदी ग्राम में आयोजित कार्यक्रम में खान को पटौदी के दसवे नवाब का ताज पहनाया गया। खान की दो छोटी बहने है। पहली सबा और दूसरी अभिनेत्री सोहा अली खान है। अपनी माँ की तरफ से खान बंगाली वंशज और अपने पिता की तरफ से वे पठान वंशज है।

उनके पिता का भी उनपर काफी प्रभाव है। खान ने हिमाचल प्रदेश की दी लॉरेंस स्कूल से प्रारंभिक शिक्षा प्राप्त की और बाद में 9 साल की उम्र में उन्हें हेर्त्फोर्डशिर की लाकर्स पार्क स्कूल भेजा गया। इसके बाद उन्हें विंचेस्टर कॉलेज में डाला गया।

बोर्डिंग स्कूल से ग्रेजुएट करने के बाद खान भारत वापिस आए और इसके बाद दो महीनो तक उन्होंने दिल्ली में एक एडवरटाइजिंग फर्म के लिए काम किया। इसके बाद वे अपने पारिवारिक दोस्त के लिए ग्वालियर सूटिंग का टेलीविज़न कमर्शियल भी किया और इसके बाद उन्हें डायरेक्टर आनंद महिन्द्रू ने कास्ट किया। लेकिन किसी कारणवश उनका यह प्रोजेक्ट रद्द हो गया और इसी वजह से खान को फिल्मो में करियर बनाने के लिए मुंबई आना पड़ा।

सैफ अली खान की पहली पत्नी का नाम अमृता सिंह है, जिनके साथ वे 13 सालो तक वैवाहिक बंधन में रहे और इसके बाद उन्होंने अभिनेत्री करीना कपूर से शादी की।

उनकी कुल तीन संताने है – जिनमे से दो उन्हें सिंह से हुए और एक करीना कपूर से। फिल्मो में एक्टिंग के साथ-साथ खान अक्सर टेलीविज़न पर स्टेज शो भी करते है और वे प्रोडक्शन कंपनी इल्लुमिनती फिल्म्स के मालिक है।

Saif Ali Khan Career :-

सैफ अली खान ने अपने अभिनय की शुरुवात यश चोपड़ा की असफल ड्रामा फिल्म परंपरा (1993) से की, लेकिन इसके बाद रोमांटिक ड्रामा फिल्म ‘ये दिल्लगी’ और अक्षय कुमार के साथ एक्शन फिल्म मैं खिलाडी तू अनारी (दोनों ही फिल्मे 1994 में की) में उन्होंने अपने किरदार से काफी सफलता हासिल की।

1990 के दशक में खान का फ़िल्मी करियर गिरता चला जा रहा था और सलमान खान के साथ उस दशक की उनकी सबसे बड़ी कमर्शियल सफल फिल्म हम साथ-साथ है (1999) रही। इसके बाद आमिर खान के साथ कॉमेडी-ड्रामा फिल्म दिल चाहता है (2001) और शाहरुख खान के साथ फ़िल्म कल हो ना हो (2003) में अपने अभिनय से उन्होंने काफी तालियां बटोरी।

2004 की रोमांटिक कॉमेडी फिल्म हम तुम, खान के करियर की सबसे सफल फिल्म साबित हुई। इस फिल्म में उन्होंने एकमात्र पुरुष लीड का रोल निभाया और इसी फिल्म की वजह से उन्हें बेस्ट एक्टर का नेशनल फिल्म अवार्ड भी दिया गया। इसके बाद विद्या बालन के साथ ड्रामा फिल्म परिणीती और रोमांटिक कॉमेडी फिल्म सलाम नमस्ते ने उन्हें बॉलीवुड के मुख्य अभिनेताओ में से एक बनाया।

2006 में इंग्लिश फिल्म बीइंग सायरस में एक प्रशिक्षु के चित्रण के लिए उन्होंने आलोचकों से काफी प्रसिद्धि बटोरी, जो विलियम शेक्सपियर की एक रचना है।

उन्होंने 2006 की क्राइम फिल्म ओमकारा में एक प्रशिक्षु की भूमिका निभाई और 2009 की थ्रिलर फिल्म कुर्बान में उन्होंने टेररिस्ट की भूमिका निभाई। कटरीना के साथ खान की सबसे बड़ी व्यावसायिक सफल फिल्म 2008 की थ्रिलर फिल्म रेस रही और इसका दूसरा भाग (सीक्वल) भी उनके लिए उतना ही सफल रहा।

इसके बाद 2009 में दीपिका पादुकोण के साथ रोमांस फिल्म लव आजकल और 2012 की रोमांटिक कॉमेडी फिल्म कॉकटेल भी उनकी व्यावसायिक सफल फिल्मो में से एक है।

saif ali khan biography in hindi :-

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
shares