mithali raj biography in hindi

mithali raj biography in hindi | मिताली राज

Sharing is caring!

 मिताली राज | Mithali Raj Biography :-

मिताली राज का जन्म 3 दिसंबर 1982 में राजस्थान के जोधपुर में एक तमिल परिवार में हुआ। उनके पिताजी दोरज राज भारतीय हवाई डाल में एयरमन थे और उनकी माँ का नाम लीला राज है।

उन्होंने सिकंदराबाद के लडकियों की कीज हाई स्कूल से पढाई पूरी की। पश्चिम मरेडपल्ली के कस्तूरबा गांधी जूनियर कॉलेज से आगे की पढाई पूरी की। स्कूल के दिनों में मिताली राज उनके बड़े भाई के साथ में क्रिकेट की कोचिंग लेती थी। स्कूल में खेलते समय मिताली राज हमेशा लडको के साथ नेट में क्रिकेट का अभ्यास करती थी।

जब वो 10 साल की थी तब उन्होंने खेलना शुरू कर दिया था और केवल 17 साल की उम्र में उन्हें भारतीय टीम में शामिल किया गया।

मिताली राज का करियर:-

1997 में जो महिला क्रिकेट विश्व कप खेला उसके लिए भारतीय टीम में मिताली राज को प्रबल दावेदार समझा जा रहा था मगर लेकिन अंतिम मुकाबले में उन्हें शामिल नहीं किया गया। तब उनकी उम्र केवल 14 साल की थी। सन 1999 मे उन्होंने करियर का पहला ओडीआई का मुकाबला आयरलैंड के खिलाफ खेला था। घरेलु क्रिकेट में मिताली राज रेलवेज टीम की तरफ़ से खेलती है।

जब मिताली एयर इंडिया टीम के लिए खेलती थी तो तब वह अंजुम चोप्रा और अंजू जैन जैसे महान महान खिलाडियों के साथ खेलती थी। 2002 के विश्व कप के अंतिम मैच में उन्होंने भारतीय टीम का नेतृत्व किया था। 1999 में मिल्टन कीन्स में खेले गए मैच में उन्होंने आयरलैंड के खिलाफ ओडीआई का पहला मुकाबला खेला था। उन्होंने पहले ही एकदिवसीय मैच में नाबाद 114 रन बनाये थे।

2005 के महिला क्रिकेट विश्व कप में मिताली राज ने भारतीय टीम की कप्तानी की थी। मिताली राज की कप्तानी में भारतीय महिला टीम ने पहली बार टेस्ट सीरीज में इंग्लैंड को हराया था और उसी साल एशिया कप भी जीत लिया था।

2013 के महिला विश्व कप में ओडीआई की रैंकिंग में मिताली राज नंबर 1 पर थी। मिताली राज की कप्तानी में भारतीय महिला टीम ने 2017 का महिला विश्व कप का अंतिम मुकाबला खेला था।

2017 के महिला विश्व कप में खेलने के बाद मिताली राज ने एक साक्षात्कार में कहा था की अगर भारतीय टीम में प्रतिभाशाली खिलाडी बनाने है तो भारतीय टीम ने अधिक से अधिक टेस्ट मैच खेलने चाहिए।

मिताली राज को मिले हुए पुरस्कार :-

खेल जगत में उनके शानदार प्रदर्शन को देखते हुए भारत सरकार की तरफ़ से 2003 में ‘अर्जुन पुरस्कार’ दिया गया। सन 2015 में भारत सरकार ने चौथा सबसे बड़ा नागरी पुरस्कार ‘पद्मश्री’ से भी सम्मानित किया गया।

मिताली राज एक बहुत ही प्रतिभाशाली खिलाडी है। उन्होंने बहुत ही कम उम्र में क्रिकेट खेलना शुरू कर दिया था। उन्होंने एक दिवसीय मुकाबले में 6000 से भी ज्यादा रन बनाये है। उन्होंने लगातार 7 अर्द्धशतक बनाने का अनोखा रिकॉर्ड भी खुद के नाम पे कर लिया है। उन्होंने अपने पहले ही मुकाबले में नाबाद शतक बनाया था। उस मैच में उन्होंने शानदार नाबाद 114 रन बनाये थे।

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
shares