kader khan biography in hindi

kader khan biography in hindi

Sharing is caring!

kader khan biography in hindi :-

कादर ख़ान एक हिन्दी फ़िल्म हास्य अभिनेता होने के साथ साथ एक फ़िल्म निर्देशक भी हैं। उन्होंने अबतक 300 से अधिक फ़िल्मो में काम किया है। उनकी पहली फ़िल्म दाग (1973) थी जिसमे उन्होंने अभियोगपक्ष के वकील की भूमिका निभाई थी। उन्होंने स्नातक की पढ़ाई इस्माइल यूसुफ कॉलेज से की पूरी की। उन्होंने एक शिक्षक के रूप में भी कार्य किया।

पढ़ाई :-

कादर खान ने अपनी पढ़ाई की शुरुआत एक म्युनिसिपल स्कूल से की थी।  उसके बाद उन्होंने इस्माइल कॉलेज से अपने ग्रेजुएशन की पढाई पूरी की।  उन्होंने इंजीनियरिंग में भी डिप्लोमा कर रखा है , फिल्म जगत में आने से पहले पहले वह एक कॉलेज में लेक्चरर थे।

शादी :-

कादर खान मूलतः मुंबई में रहते हैं।  उनके तीन बेटें हैं।  जिसमे से एक कनाडा में रहता है।  उनका एक बेटा सरफराज खान हिंदी फिल्म अभिनेता है।

फिल्मी सफर :-

कादर खान के फ़िल्मी जीवन की शुरुआत तब हुई एक बार वे अपने कॉलेज में किसी भूमिका को निभाया तो वहां उपस्थित लोगो ने उनकी काफ़ी प्रशंसा की। जब अभिनेता दिलीप कुमार को ये पता चला तो उन्होंने खान को बुलाया और उन्हें रोल देखने कि इच्छा ज़ाहिर कि तो खान ने अच्छे से तैयार कर उनके लिए प्रदर्शित किया।दिलीप कुमार उनके प्रदर्शन से काफी प्रभावित हुए और उन्होंने खान को दो फ़िल्मो में काम दे दिया सगीना महतो और बैराग।

कादर खान ने 300 से भी अधिक हिंदी और उर्दू फिल्मो में काम किया है साथ ही उन्होंने 1970 के दशक से ही 250 से भी ज्यादा फिल्मो के लिए डायलोग लिखने का काम किया है। कादर खान ने रोटी फिल्म (1974) के लिए डायलोग लिखे थे। उस फ़िल्म के डायलोग लिखने के लिए मनमोहन देसाई ने उन्हें एक लाख इक्कीस हजार रुपये दिए थे। उन्होंने अधिकतर जीतेन्द्र, फिरोज खान, अमिताभ बच्चन और गोविंदा और डेविड धवन के साथ बहुत सारी सुपरहिट फिल्मो में काम किया। इसके साथ ही शक्ती कपूर और जोनी लीवर जैसे महान कॉमेडियन और अभिनेता के साथ में भी काम किया है।

एक स्क्रीनराइटर के रूप में कादर खान ने मनमोहन देसाई और प्रकाश मेहरा के लिए कई सारी फिल्मो के लिए काम किया।

अमिताभ बच्चन ने जीन फिल्मो में काम किया उनमे से कई सारी फिल्मो के लिए कादर खान ने डायलोग लिखे है। मिस्टर नटवरलाल, खून पसीना, दो और दो पाच, सत्ते पे सत्ता, इन्किलाब, गिरफ्तार, जैसी फिल्मो के लिए भी कादर खान ने स्क्रीनराइटर के रूप में काम किया है। ( kader khan biography in hindi )

अजय देवगन की फ़िल्म “हिम्मतवाला”, गोविंदा की फ़िल्म “कुली नंबर 1”, अक्षय कुमार और सैफ़ अली खान की फ़िल्म “मैं खिलाडी तू अनाड़ी” कानून अपना अपना, खून भरी मांग, कर्म, सलतनत, आमिर खान की फ़िल्म “सरफ़रोश”, जस्टिस चौधरीर धरम वीर जैसी सुपरहिट फिल्मों के डायलोग खुद कादर खान ने ही लिखे है।

पुरस्कार :-

अपने कला और आवाज से प्रभावित कर देने वाले खान ने कई पुरस्कार भी प्राप्त किए है।

    2013 – साहित्य शिरोमणि पुरस्कार (हिन्दी सिनेमा में योगदान के लिए)

    1982 – फ़िल्म फ़ेयर अवार्ड (बेस्ट डाइलोग “मेरी आवाज सुनो”)

    1981 – फ़िल्म फ़ेयर बेस्ट कॉमेडियन (“बाप नम्बरी बेटा दस नम्बरी”)

सुपरहिट डायलोग में से एक :-

 जहा हम खड़े रहते है वही से लाइन शुरू होती है 

kader khan biography in hindi :-

1
Leave a Reply

avatar
1 Comment threads
0 Thread replies
0 Followers
 
Most reacted comment
Hottest comment thread
1 Comment authors
vishal kumar Recent comment authors
  Subscribe  
newest oldest most voted
Notify of
vishal kumar
Guest

biography of Kader Khan in Hindi

shares