j j thomsan biography in hindi

J. J. Thomson biography in hindi

Sharing is caring!

J. J. Thomson biography in hindi :-

जे जे थॉमसन का जन्म 18 दिसंबर  1856 चीथम हिल मैनचेस्टर इंग्लैंड में हुआ, इनकी माता एमा स्विंडेल्स इनकी शुरूआती शिक्षा एक छोटे से प्राइवेट स्कूल में हुई, जहां उन्होंने अद्भुत प्रतिभा और विज्ञान में रुचि का प्रदर्शन किया, 1870 में इंटर ऐडमिशन ओवेंस कॉलेज में हुआ! जब इनकी उम्र 14 वर्ष थी जो एक असाधारण बात थी. इनके पिता  शार्प स्टीवर्ट एंड कंमैं जो रेल इंजन बनाती थी, अप्रेंटिस इंजीनियर के रूप में दाखिला करा दिया जाए लेकिन यह हो नहीं पाया क्योंकि इनके पिता का 1873 में देहांत हो गया।

1876 में वे ट्रिनिटी कॉलेज आ गए,  1880 में गणित में बीए की उपाधि प्राप्त की उन्होंने आवेदन किया, और 1881मैं  ट्रिनिटी कॉलेज के फेलो चुने गए. बाद में यह 1915 से1920 तक इसके अध्यक्ष भी रहे 22 दिसंबर 1884 मैंने कैंब्रिज विश्वविद्यालय में केवेंडिश प्रोफेसर ऑफ फिजिक्स चुना गया, यह नियुक्ति का भी आश्चर्यजनक थी क्योंकि अन्य प्रतिस्पर्धा जैसे रिचार्ड ग्लेजब्रुकइनसे भी उम्र में  बड़े थे और प्रयोगशाला कार्य में भी अधिक अनुभवी थे, ऑप्शन को मुख्यतः इन के गणित में किए कार्यों के लिए जाना जाता था। जहां इन्हें एक असाधारण प्रतिभा के रूप में पहचान मिली थी।

1890 में थॉमसन का विवाह रोस एलिजाबेथ पैगेट से हुआ।, सर जॉर्ज एडवर्ड पेगेट ,KCB,एक चिकित्सक ओर चर्च ऑफ सेंट मेरी डीलक्स में तत्कालीन रेजियस प्रोफेसर ऑफ फिजिक्स ऑफ कैंब्रिज [चिकित्सक विज्ञान की एक  प्रोफेसर शिप थे, एलिजाबेथ और जे जे थॉमसन का एक बेटा जॉर्ज पैगेट,और उनकी एक बेटी जोआन पेगेट थॉमसन हुई

मॉम सन प्रों 1996 नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया, गैसों से होकर विद्युत प्रवाह के प्रयोगात्मक परीक्षणों और संबंधित सैद्धांतिक कार्यों की उच्च गुणवत्ता को देखते हुए इन्हें 19 वाट में नाइटहुड 1912 में ऑर्डर ऑफ मेरिट में नियुक्ति मिली और 1914 में उन्होंने परमाण्विक सिद्धांत  पर ऑक्सफोर्ड  में रोमान्सेस अभिभाषण 1918 में यह कैंब्रिज में मास्टर ऑफ ट्रिनिटी बनाए गए, और जीवन पर्यंत इस पद पर रहे।

जोन थॉमसन 30 अगस्त 1940 को इस दुनिया को छोड़ कर चले गए. उन्होंने अपना सारा जीवन विज्ञान के ज्ञान में लगा दिया और हमेशा ही देश की प्रगति के लिए खोज करते रहे उनकी खोज आज सारे विश्व के लिए वरदान है!  उनकी अस्थियां वेस्ट मिन्स्टर.एबेमे सर आइजक न्यूटन थॉमसन के अपने शिष्य अर्नस्ट रदरफोर्ड की कब्रों के पास दफनाई गई है।

J. J. Thomson biography in hindi :-

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
shares