disha vakani biography in hindi

disha vakani biography in hindi | daya gada

Sharing is caring!

दोस्तों अगर हमारे देश में कोई भी ऐसा सीरियल है, जिसे बच्चे बूढ़े या फिर जवान सभी उम्र के लोग एक साथ बैठकर देखना पसंद करते है, तो वो है तारक मेहता का उल्टा चश्मा | और इस सीरियल में दया बेन के एक्टिंग और बोलने का इस्टाइल, शो में चार चाँद लगाने के लिए काफी है |

इसके अलावा उनका अजीबो गरीब गरबा की तो जीतनी तारीफ़ की जाए उतनी कम है |

तो चलिए दोस्तों बिना आपका ज्यादा समय लिए, हम दिशा वकानी उर्फ़ दया बेन की लाइफ स्टोरी को शुरू से जानते है |

दया का जन्म 17 सितम्बर 1978 को गुजरात के अहमदाबाद में हुआ था | उनके पिता का नाम भीम वकानी है, जो एक छोटी सी थियेटर कंपनी चलाते थे, इसके अलावा वे एक लोकल के स्कुल में, ड्राइंग टीचर भी थे |

अब चुकी फैमिली बैकग्राउंड भी थियेटर से ही था, इसी लिए दया को भी ड्रामा का सौख बचपन से ही हो गया |

दया बताती है की मेरे पापा एक थियेटर कपनी चलते थे, जहा वे नाटको में पार्टिसिपेट करने वाली अभिनेत्रियों के लिए हमेशा परेशान रहते थे, क्युकी उन दिनों तक गुजराती लड़कियों का थियेटर में आने का बिलकुल भी चलन नहीं था, इसीलिए पापा की परेशानियों को देखते हुए मैंने भी निश्चय किया की मै बड़ी होकर अपने पिता के थियेटर में काम करुँगी |”

अगर दया की पढ़ाई की बात करें तो उन्होंने अपनी शुरुवाती पढ़ाई सिधार्थ स्कूल से की, और फिर गुजरात कालेज, अहमदाबाद से उन्होंने ड्रामेटिक आर्ट में डिप्लोमा किया |

डिप्लोमा की डिग्री लेने के बाद उन्होंने अपने पिता की थियेटर में काम करना शुरू कर दिया |

दया के भाई मयूर वकानी बताते है, की दया के अंदर ओबजर्वेशन पावर गजब की है, वो तुरंत ही किसी को भी कापी कर सकती थी |

और दोस्तों एक इंटरेस्टिंग बात बताऊ, मयूर वकानी दया के वही भाई है, जो तारक मेहता में उनके छोटे भाई सुन्दर का किरदार निभाते है |

दया ने आगे चल कर लाली-लीला, और कमाल पटेल vs धमाल पटेल जैसे कुछ प्रशिध गुजराती प्ले में भी काम किया |

गुजराती प्ले में लोकप्रिय होने के बाद दया ने फ़िल्मी दुनिया में भी अपने आप को आजमाने का सोचा , और फिर 1997 में उन्होंने एक B grade की मूवी कमसिन द अनटचड में काम किया |

उसके बाद, 1999 मे उन्हें एक लो बजट फिल्म फूल और आग में भी देखा गया |

इसके अलावा उन्होंने 2002 में देवदास, 2005 में मंगल पांडे और 2008 में जोधा अकबर जैसी हिट मोविज में भी काम किया है , और शायद आपको याद हो जोधा अकबर में वह जोधा की फ्रेंड माधवी बनी हुई थी |

दोस्तों अब तक दया ने बहुत सारी फिल्मों में छोटे-मोटे रोल किए, लेकिन किस्मत को तो कुछ और ही मंजूर था | 2008 में एक दिन उनकी सहेली ने उन्हें बताया कि प्रोडक्शन हाउस नीला टेलीफिल्म्स तारक मेहता… के लिए ऑडिशन ले रहा है |

दिशा तुरंत वहां पहुंच गई और ऑडिशन में उनका सलेक्शन हो गया , बस यहाँ से उनकी किस्मत ही बदल गयी | और देखते ही देखते वह अपने किरदार दया जेठालाल गडा से सभी के बीच लोकप्रिय हो गयी |

Taarak Mehta Ka Ooltah Chashmah में उनके जबरजस्त एक्टिंग के लिए उन्हें ९वाँ और १०व Indian Telly Awards, Indian Television Academy Awards, और तीसरा Zee Gold Awards दिया जा चूका है |

अगर दया की पर्सनल लाइफ की बात करें तो उन्होंने 24 नवम्बर 2015 को चार्टर्ड अकाउटेंट मयूर पडिया के साथ शादी की |

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
shares