bhavish aggarwal biography in hindi

Bhavish Aggarwal ola founder story biography in hindi

Sharing is caring!

भविश अग्रवाल का जन्म 28 अगस्त 1985 को लुधियान में हुआ। भविश अग्रवाल ने IIT बॉम्बे से बीटेक इंजीनियरिंग की शिक्षा ग्रहण की है। और वे माइक्रोसॉफ्ट कम्पनी में भी अपना नाम रोशन कर चुके हैं, इस दौरान भविश ने दो पेटेंट भी हासिल किए थे।

लेकिन भविश का लक्ष्य नौकरी कर पैसा कमाना नहीं था बल्कि समाज की समस्या का समाधान कर खुद को साबित करने का था, ओला कैब फाउंडर भविश कुमार की इस सोच ने उन्हें आज इस मुकाम तक पहुंचाया है।

भविश ने बैंगलोर से बांदीकुई के सफर को आसान बनाने के लिए कार बुक की लेकिन वे अपनी मंजिल तक पहुंचे नहीं थे के बीच में ही ड्राइवर ने पैसों की मांग की और भविश के साथ गलत व्यवहार किया जिससे परेशान होकर भविश को अपनी बाकी की यात्रा बस से करनी पड़ी थी, इस दौरान उन्हें ऑनलाइन टैक्सी सर्विस की शुरुआत करने का ख्याल आया और उन्होनें यात्रा से जुड़ी लोगों का न केवल हल निकाल दिया बल्कि उनके इस कदम से वे आज देश के मशहूर बिजनेसमैन की सूची में शामिल हो गए हैं।

भविश के सफर के बुरे अनुभव ने उन्हें सफलता का मंत्र तो दिया ही बल्कि कम दामों में यात्रा को सुगम और सफल कैसे बनाया जा सकता है इसका भी भरपूर ज्ञान दिया, इसलिए उन्होनें कम दामों पर अच्छी ट्रेवलिंग ऑनलाइन सर्विस शुरू कर दी जिसके बाद उनकी कंपनी सफलता के आसमान छू रही है।

उनके द्धारा बनाई गई ओलाकैब कंपनी आज लगभग 100 से भी ज्यादा शहरो में करीब 1.50 लोग ओला कैब सर्विस का इस्तेमाल कर रहे है और आज देश की सबसे बड़ी आॉनलाइन टैक्सी सर्विस कंपनी बन गई है जिसकी आय 100 करोड़ से भी ज्यादा है। ओला एप्लीकेशन आज ज्यादातर स्मार्टफोन यूजर के फोन में डाउनलोड की जा जाने वाली मुख्य ऐप बन गई है।

भविश ने लगातार अपने प्रयास से अपनी मंजिल को पाकर लोगों के लिए एक उदाहरण पेश किया है और ये सच कर दिखाया है कि

“अगर किसी काम को सच्चे मन और पूरी लगन से किया जाए तो सफलता जरूर मिलती है।”

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
shares
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x