best startups india | भारत सफल व्ययसाय

Sharing is caring!

best startups india :-

हम आपको भारत के सबसे अच्छे स्टार्टअप के बारे में बता रहे हैं। जिन्होनें महज कुछ ही समय में सफलता हासिल कर ली है और बाकी लोगों के लिए मिसाल कायम की है।

और इन सारे स्टार्टअप की सारी जानकारी देख ने के लिये हमारी वेबसाइट चेक करे

Top startups in India

  1. “Ola Cabs”

Ola Cabs आज जो सबसे बड़ी परिवहन नेटवर्क कंपनी बन चुकी है। ओला कैब सबसे अच्छी ऑनलाइन टैक्सी और कार ऐग्रीगेटर सर्विस है। इसके साथ ही ओला दूसरी ट्रांसपोर्ट ऐप ऊबर को मार्केट में कड़ी टक्कर दे रही है

ओला कैब एक स्मार्टफोन ऐप है जो की आज ज्यादातर स्मार्टफोन यूजर्स के फोन में डाउनलोडेड है। इस ऐप की मद्द से कुछ ही मिनट में टैक्सी सर्विस का आप फायदा ले सकते हैं। एक क्लिक पर ग्राहक ओलाकैब से टैक्सी सर्विस को अपनी लोकेशन पर बुला सकता है।

ओलाकैब ने वाकई यात्रा को बड़ा आसान और सुगम बना दिया है। ओला कैब एक ऐसी टैक्सी सर्विस है जिसमें दूरी और किराए को लेकर काफी पार्दशिता है। इसी के साथ इसमें यात्रा को ट्रैक करने का भी विकल्प है।

ओला कैब की शुरुआत 3 दिसम्बर, 2010 को IIT बॉम्बे में पढ़ने वाले छात्र भविश अग्रवाल और अंकित भाटी ने की थी। ओला कैब अपनी सर्विस करीब भारत के 110 शहरों में दे रही है और इसके पास करीब 6,00000 वाहन हैं। वहीं ओला कैब ने ऑटो सर्विस देना भी शुरू कर दिया है जिससे कंपनी का रेवन्यू दिन पर दिन काफी बढ़ता जा रहा है।

          2. “PayTm”

पेटीएम भारत का सबसे बड़ा सफल स्टार्टअप है। यह एक ई-कॉमर्स पेमेंट सिस्टम और डिजिटल वॉलेट कंपनी है। जिसे साल 2010 में विजय शेखर शर्मा ने लॉन्च किया था जो कि नोएडा से संबंधित है। पेटीएम स्मार्ट फोन पर डाउनलोड की जाने वाली सबसे पसंदीदा ऐप बन गई है।

पेटीएम एप की लोकप्रियता दिन पर दिन बढ़ती जा रही है क्योंकि पेटीएम जहां डिजिटल इंडिया का सबसे अच्छा उदाहरण पेश करता है वहीं पेटीएम पेमेंट ट्रांसफर से लेकर बिल का भुगतान करना, मोबाइल रिचार्ज करना या अन्य बैंकिंग सुविधाएं काफी आसान बना दी हैं इसी के साथ पेटीएम ने बिजनेस में पार्दशिता में भी लाने में काफी मदत की है। जिसके माध्यम से आदान-प्रदान में नजर रखी जा सकती है।

जहां पेटीएम ने पेमेंट ट्रांसफर को सफल बना दिया है वहीं दूसरी तरफ पेटीएम दूसरी बड़ी ई-कॉमर्स कंपनियों को बड़ी टक्कर दे रही है। इलैक्ट्रॉनिक्स का सामान हो, कपड़ों की खरीददारी करनी हो या फिर जरूरत का अन्य सामान खरीदना हो आप पेटीएम की मद्द से आसानी से खरीद सकते हैं। बिजनेस के लेन-देन में भी पेटीएम काफी सहायक है।

अभी हाल ही में जब मोदी सरकार ने नोटबंदी का एलान किया था तब पेटीएम ने डिजिटल पेमेंट के जरिए लोगों को काफी सुविधा प्रदान की थी। वहीं जनवरी, 2018 की रिपोर्ट के मुताबिक पेटीएम की नेट वर्थ करीब 10 बिलियन थी। इस तरह पेटीएम भारत का सफल स्टार्टअप बन चुका है।

“Flipkart”

Flipkart भारत की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स बैंगलोर की कंपनी है। जिसे साल 2007 में सचिन बंसल और बिनी बंसल ने स्थापित किया था। शुरूआती दौर में कंपनी ने ऑनलाइन किताबें बेचने से शुरू किया था फिर बाद में इस ई-कॉमर्स कंपनी ने इलैक्ट्रॉनिक्स, गैजट्स, कपड़े, फैशन, लाइफस्टाइल से जुड़े प्रोडक्ट भी बेचना शुरु कर दिया और इस तरह से कंपनी दूसरी बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी बन गई।

और अब ये दूसरी ई-कॉमर्स कंपनी अमेजॉन और स्नेपडील को बड़ी टक्कर दे रही है। वहीं फ्लिपकार्ट का ई-कॉमर्स इंडस्ट्री में साल 2017 तक करीब 39.5 प्रतिशत शेयर था जबकि मई, 2018 में वॉलमार्ट ने फ्लिपकार्ट के 77 प्रतिशत खरीद लिए, वॉलमार्ट ने फ्लिपकोर्ट से 1.07 लाख करोड़ रूपये में खरीद कर फ्लिपकार्ट का अधिग्रहण कर लिया है।

आपको बता दें कि, फ्लिपकार्ट अपने ग्राहकों को ऑनलाइन बुकिंग के आधार पर प्रोडक्ट उपलब्ध करवाता है इसके साथ ही कंपनी की पेमेंट पॉलिसी, डिलीविरी सर्विस और रिटर्न पॉलिसी अच्छी होने की वजह से ज्यादातर लोग ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट से सामान खरीदना पसंद करते हैं।

ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट ने लोगों को ऑनलाइन सुविधा देकर कई समस्याओं का हल कर दिया है। इसी के साथ फ्लिपकार्ट लोगों के बीच काफी लोकप्रिय होती जा रही है। फ्लिप कार्ट की इनकम भी तेजी से बढ़ रही है। इस तरह ये सफल स्टार्टअप के रूप में सामने आई है।

Make My Trip

मेक माई ट्रिप एक ऑनलाइन ट्रेवल कंपनी है जिसने यात्रा से जुड़ी समस्याओं का हल निकालने की कोशिश की है। इस ऑनलाइन ट्रेवल कंपनी के माध्यम से लोग आसानी से अपनी यात्रा प्लान कर सकते हैं।

मेकमाईट्रिप की सहायता ऑनलाइन फ्लाइट टिकट, ऑनलाइन होटल बुक किए जा सकते हैं इसके साथ ही मेक माई ट्रिप के माध्यम से लोग अपना हॉली-डे पैकेज भी आसानी से ऑनलाइन बुक कर सकते हैं।

भारत के 47 शहरो में मेक माई ट्रिप ट्रेवल कंपनी 51 रिटेल स्टोर को भी चला रहा है। जिसकी वजह इसने महज कुछ ही समय में लोगों के बीच अपनी जगह बना ली और आज सफल स्टार्टअप के रूप में स्थापित हो गई है।

साल 2000 में मेक माई ट्रिप को दीप कारला ने लॉन्च किया था। शुरूआती दौर में इस कंपनी को भारत में इतना अच्छा रिस्पॉन्स नहीं मिल रहा था लेकिन बाद में कंपनी की इनकम बढ़ती चली गई और 2016- 2017 में कंपनी का रेवन्यू बढ़कर करीब 62 बिलियन डॉलर तक पहुंच गया आज जहां ये कंपनी कई हजार लोगों का रोजगार उपलब्ध करवा रही है वहीं कई लोग इस मेक माई ट्रिप के जरिए अपनी ट्रिप को और भी रोमांचक बना रहे हैं।

OYOROOMS

Oyo rooms सस्ते दामों पर होटल बुकिंग करवाने के लिए मशहूर है। जिसे साल 2013 में रितेश अग्रवाल ने स्थापित किया था। 21 साल की उम्र में रितेश ने लगभग 400 करोड़ की कंपनी बनाकर बाकी दूसरे बिजनेसमैन को हैरान कर दिया था। Oyo rooms भारत में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी अपनी पहचान बना चुका है। Oyo rooms के 230 शहरो में करीब 8500 होटेल हैं।

Oyorooms दिल्ली, मुंबई, हैदराबाद, चेन्नई, बैंगलोर समेत मेट्रो सिटी में होटल बुकिंग करने की सुविधा प्रदान करता है। Oyo rooms की खासियत यह है कि ये कम बजट में अच्छी सुविधा प्रदान करता है, लोग सस्ते दामों पर अच्छे होटल बुक कर सकते हैं। साल 2017 के मुताबिक कंपनी का रेवन्यू करीब 400 मिलियन डॉलर था जो कि अब बढ़ चुका है साथ ही कंपनी ने जनवरी, 2018 में इसके रूम की संख्या भी बढ़ा दी है।

“Wow! Momo”

Wow Momo भी एक अच्छे सफल स्टार्टअप के तौर पर उभर कर सामने आ रही है। Wow Momo एक फूड चैन ( आहार श्रंखला ) है जो कि काफी तेजी से विकास कर रही है और अच्छी कमाई कर रही है।

Wow Momo की ब्रांच दिल्ली, चेन्नई, कोच्ची समेत कई बड़े शहरों में हैं। Wow Momo एक शाकाहारी रेस्टोरेंट के रूप में मशहूर है ये बर्गर, तिब्बती फूड अपने ग्राहकों को उपलब्ध करवाता है।

Wow! Momo रेस्टोरेंट की स्थापना साल 2008 में की गई थी जिसका हेडक्वार्टर कोलकाता में है। सागर दरयानी और बिनोद कुमार ने Wow Momo रेस्टोरेंट की स्थापना की थी। वहीं कंपनी के रेवन्यू की बात करें तो साल 2017-2018 में इस रेस्टोरेंट का रेवन्यू 300 करोड़ था।

         “Zomato

जोमेटो ऑनलाइन होटल की लोकेशन ढूंढने में मद्द करता है। पिछले कई दिनों से जोमेटो ऐप तेजी से डाउनलोड की जा रही है। ऑनलाइन ऐप के जरिए लोग रेस्टोरेंट के रेट और फूड क्वालिटी के बारे में जानकारी जुटा सकते हैं।

जोमेटो सर्विस साल 2008 में दीपिन्दर गोयल और पंकज चड्डा ने लॉन्च की थी। जोमेटो के जरिए 23 देशों की रेस्टोरेंट सर्विसेज का पता लगाया जा सकता है जिसमें ऑस्ट्रेलिया और यूनाइटेड स्टेट भी शामिल हैं।

महज कुछ ही सालों में जोमेटो ने लोगों की बीच अपनी पकड़ बना ली है। जोमेटो फूडीवे (foodiebay) के नाम से शुरू की गई थी बाद में इसका नाम बदलकर जोमेटो कर दिया गया।

आपको बता दें कि जोमेटो में एक महीने में करीब 90 मिलियन डॉलर से ज्यादा यूजर्स विजिट करते हैं और इसकी संख्या दिन पर दिन बढ़ती जा रही है। जोमेटो की सालाना आय करोड़ो मिलियन डॉलर है।

best startups india

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

shares