वह करो जो आप करना चाहते हो | Best Short Story in hindi

Best Short Story in hindi

Sharing is caring!

Best Short Story in hindi :-

आज महेश और रिया के घर ख़ुशी का माहौल था और हो भी क्यों नहीं आज 5 साल बाद उनके घर बेटे का जन्म जो हुआ है।  दोनों उसका नाम सोचने में लग गए और  उसका नाम रखा गया लक्ष्य।  महेश और रिया अपनी संतान के बारे में कई सपने भी देख रखे हैं वो  दोनों ने पहले से ही सोच रखा था की वो अपने बेटे को डॉक्टर  बनाएंगे।

जैसे ही लक्ष्य 4 साल का हुआ उसका एडमिशन शहर के अच्छे स्कूल में करा दिया गया।  लक्ष्य बचपन से ही बहुत ही अच्छी पेंटिंग ( Painting ) बनाता था।  किसी को यकीन ही नहीं होता की ये पेंटिंग 4 साल के बच्चे ने बनायीं है।

Read more :- पत्थर जमा करते करते हिरा खोदिया | Best motivational short story in hindi

लक्ष्य पढ़ने में भी बहुत अच्छा था | हमेशा क्लास में 1st आता।  १०वी के बाद उस आगे किस स्ट्रीम जाना है वो पसंद करना था।  न चाहते हुए भी उसे biology लेनी पढ़ी क्योंकी उसके माता-पिता चाहते थे की वह डॉक्टर बने , पर वह एक  पेंटर ( painter ) बनना चाहता था . लक्ष्य ने अपने माता-पिता से बात भी की वह डॉक्टर नहीं बनना चाहता। पर उसके माता-पिता ने साफ साफ कह दिया वो उसे पेंटिंग में अपना भविष्य खराब नहीं करने देंगे | मज़बूरी मे लक्ष्य को अपने माता-पिता की बात माननी पड़ी।  लक्ष्य का पढ़ाई में प्रदर्शन  पहले से कुछ खराब हो गया।  क्लास 12 करने के बाद लक्ष्य ने  Medical College में Admission लिया।  और पढ़ाई पूरी करके लक्ष्य ने अपना Clinic भी खोल लिया।  कुछ समय बाद लक्ष्य की शादी भी हो गयी और एक बेटी भी।  पर उसके मन कही न कही अपना मुख्य लक्ष्य पेंटिंग करना सिर्फ सपना बन गया।  पर अब लक्ष्य के जीवन का लक्ष्य था जो काम वो नहीं कर सका वो उसकी बेटी करे और लक्ष्य अपनी बेटी को एक Painter बनाना चाहता था , यह जाने बिना की उसकी बेटी क्या बनना चाहती है। ( Best Short Story in hindi )( best motivational short story in hindi)

Read more :- किसी के बिना किसी का काम नहीं रुकता | motivational story in hindi for success

नोंध :- वह करो जो आप करना चाहते हो

कुछ ज्यादा :-

दोस्तों हम इस तरह की पहले भी कई बात सुन और पढ़ चुके होंगे | कई Movie भी देखि होंगी जैसे 3 Idiots , Taare zameen par | पर  जब असलियत में अपने बच्चों पर apply करने  की बात आती है , हम अपने बच्चों को दूसरों से तुलना करने लगते है या सोचने लगते है जो काम हमने नहीं किया वो बच्चे करें | या समाज क्या कहेगा आदि आदि | अभी ज़रूरत है अपने बच्चों को पूरी समझ देने की और उन्हें उनके पसंद का career select करने की आज़ादी देनी की | Motivational Stories in Hindi for Students

-: Best Short Story in hindi

Read more :- सफलता जरूर मिलेंगी | Super Motivational short story in hindi

Follow on Quora :-Yash Patel

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

shares